जल्‍दी प्रेगनेंट होने के लिए, बच्‍चेदानी को ऐसे करें मजबूत

गर्भाशय एक महिला के शरीर का प्रमुख प्रजनन यौन अंग है। अगर एक महिला बच्चा पैदा करना चाहती है, तो उसे प्रजनन अंग को स्वस्थ और मजबूत रखना बेहद जरूरी है।

जिन महिलाओं को गर्भधारण करने में परेशानी आ रहीहै, उन्हें अंदाजा भी नहीं होता, कि उनके यूटरस या बच्चेदानी में कमजोरी है।
गर्भाशय की मांसपेशियां शरीर में सबसे ज्यादा मजबूत होती हैं, फिर भी हमारी गलत जीवनशैली, खराब पोषण और गतिहीन आदतें बच्चेदानी को कमजोर बना देती हैं।
कमजोर गर्भाशय का मतलब हिस्टेरेक्टॉमी और सी सेक्शन का खतरा बढऩे से है। इसलिए एक मजबूत बच्चेदानी आपके संपूर्ण स्वास्थ्य , प्रजनन क्षमता और लंबी उम्र के लिए बहुत जरूरी है। तो आइए जानते हैं गर्भाशय के कमजोर होने के लक्षण और इससे बचाव के तरीके।

गर्भाशय को मजबूत बनाना क्यों जरूरी है

आपके गर्भाशय का मुख्य कार्य निषेचित डिंब का पोषण करना है। एक बार जब निषेचित डिंब को एंडोमेट्रियम में ट्रांसप्लांट कर दिया जाता है,तो यह गर्भाशय की ब्लड वेसेल्स से पोषण प्राप्त करता है और इसके बाद एक भ्रूण बनता है।

इस दौरान कई चीजें आपके गर्भाशय के ठीक से काम नहीं करने का कारण बन सकती हैं- जैसे अनियमित मासिक धर्म, गर्भाशय फाइब्रॉइड। प्रजनन अंगों की ताकत को बढ़ाने के लिए बच्चेदानी या गर्भाशय को मजबूत रखने की बहुत जरूरत होती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *